Saturday, April 2, 2011

ShriRam Sir की Economics

सुबह हुई नींद से जागा,
बिस्तर छोड़ Class को भागा!
बरस रहे थे जहाँ Jokes & Comics,
देख इसे अंदाज किया मैं,
ये है शायद Shriram Sir की Economics!! 

यंहा शीला अक्सर आती है,
हंसियों के फव्वारे दे,
हमसब की नींद भगाती है! 

Indian Economics समझाने को,
Monetary Policy बतलाने को!
मनमोहन-तिवारी भी अक्सर,
यंहा साथ-साथ दिख जाते हैं!
और राज बता Zero -figure के,
मुस्कान सभी पे लाते हैं!!

Global-Economics के recession में,
Crisis के  serious discussion में!
Lehman-brothers जब आते हैं,
शकीरा भी साथ में लाते हैं!!

जहाँ Onion की बेदामी,
Inflation का चर्चा लाता है!
वहीं मुन्नी की बदनामी,
सबको विचलित कर जाता है!!

Economics के serious discussion में,
जहाँ बरस रहे हों Jokes और Comics!
बिन सोचे समझ लो प्यारे,
ये हैं ShriRam Sir की Economics !!-2